3. Hintçe Kadın Sağlığı İpuçları


</p> <p>3. Hintçe Kadın Sağlığı İpuçları – Sağlık Uzmanı Haberleri<br />

महिलाओं के लिए 15 हेल्थ टिप्स – Hintçe Kadın Sağlığı İpuçları
Altyazı ekle
  • Hintçe Kadın Sağlığı İpuçları
  • कुछ ऐसी स्वास्थ्य समस्याएँ होती है, जो सिर्फ महिलाओं को होती है. लेकिन महिलाएँ अक्सर इन छोटी-छोटी चीजों के बारे में लापरवाह होती ैर जिसके कारण उन्हें बाकदासकास माकास मासकास मासकास मासकासासासास मापासासास मापाहाल लापरवाह लापरवाह होती ैापरवाह तो आइए जानते है कि एक महिला अपने स्वास्थ्य का बेहतर ख्याल कैसे रख सकती है.
    • Hintçe Kadın Sağlığı İpuçları
    • व्यायाम करने से पीरियड सम्बन्धित समस्याएँ कम होती है, लेकिन व्यायाम एक सीमा में हीं करना चाहिए.
    • तर आप ज्यादा भोजन करती हैं, तो आपको उन्हें बर्न क्यादा शारीरिक श्रम भी करना चाहिए.
    • अपने शरीर का नियमित मसाज करें.
    • सुबह समय से नाश्ता जरुर करें.
    • अपने स्तनों खुदाँच काँच करती रहें, क्रेस्ट ैिखाई दे रहा है लिखाई दे रहा है.
    • लापरवाही भरी जीवनशैली महिलाओं की अनेक बीमारियों का कारण बनती है.
    • दिन में न सोएँ.
    • चाय के साथ नमकीन या बिस्कुट न लें, इससे मोटापा बढ़ने की सम्भावना कम होगी.
    • हाथ या पैरों के लाल हटाने के लिए कभी भी रेजर का उपयोग न करें.
    • अनियमित खान-पान और तनाव की वजह से बहुत सारी महिलाओं की उोनी काल भी उम्र से पहले हीं सफाद होै इसलिए समय पर और शरीर को लाभ पहुँचाने वाला भोजन करना चाहिए. Her yerde 50’den fazla kişi var.
    • आलू के रस या ओलिव आयल से मसाज करने से स्ट्रेच मार्क्स कम हो जाते हैं.
    • अगर आपके मासिक श्राव का रंग हरा या पीला हो जाए तो आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए.
    • हर आपके होंठों का रंग असामान्य हो, तो यह लीवर सम्बन्धित समस्या का संकेत हो सकता है.
    • गर्भाशय मसाज – गर्भाशय मूत्राशय के पीछे पेल्विक के नीचे वाले भाग में होता है. Artık her yerde var.
    • ओवरी मसाज – अण्डाशय, गर्भाशय के सामने स्थित होते हैं. यिल्कुल पेल्विक स्डियों से जुड़े होते हैं. इस हिस्से में सेल्फ मसाज के जरिये भीतरी हक्सीजन मक्त रक्त क्रवाह होता ै्रवाह हरिये भीतरी हक्सीजन मक्त रक्त ै्रवाह होता ै्रवाह हरिये भीतरी.
    • मर आपके ब्रेस्ट में रैशेज हो जाए, तो आप बेबी पाउडर का इस्तेमाल कर सकती हैं. ैंगल रैसेज की समस्या है, तो मीठा खाना कम करें. रैशेज वाले जगह पर तुलसी के पत्तों का पेस्ट लगाने से फायदा पहुंचेगा. हल्दी को ऐलोवेरा और दूध के साथ मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगाने से भी फायदा पहुंचेगा.
    • नवविविहाहिताओं हनीमून सिस्टाइस की समस्या होना एक आम बात है. हनीमून सिस्टाइस मूत्र मार्ग के संक्रमण को कहते हैं. हालांकि यौन संबंध के अलावा भी कई कारणों से ये शिकायत हो सकती है पर ज्यादातर यौन संबंध बनाते समय अनजाने कारण महिलाओं के मूत्रद्वार में जीवाणु चले जाते है. संभोग के बाद हमेशा पेशाब करें और योनि को साफ करें. बार-ब görmek पेशाब लगन लगन धुंधल धुंधल ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग ंग धुंधल धुंधल होन होन होन पेश पेश nonbing इस बीमारी से बचने के लिये खूब ज्‍यादा पानी पिएं. अरारोट पाउडर के इस्तेमाल से यूटीआई से राहत मिल सकती है. अरारोट यूरीनरी ट्रैक्ट को आराम पहुंचाता है. इसलिए इंफेक्शन के दौरान इससे दर्द में राहत मिलती है. गर्म पानी का बोतल से पेट सेट नेट नेट नोतले हिस्से कानी सिंकाई करें. इस गर्माहट से पेट के निचले हिस्से का रक्तसंचार बेहतर होगा और जलन और दर्द में कमी आएगी.





Kaynak : https://healthtipsalert.blogspot.com/2016/12/3-women-health-tips-in-hindi.html

SMM Panel PDF Kitap indir